Dehradun News : (बड़ी खबर) भाजपा प्रवक्ता हेमंत द्विवेदी ने UCC पर जताया मुख्यमंत्री का आभार, पढ़ें पूरी खबर…

A VPN is an essential component of IT security, whether you’re just starting a business or are already up and running. Most business interactions and transactions happen online and VPN
Dehradun News

न्यूज शेयर करें :

हमें फॉलो करें :

Dehradun News : भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता हेमन्त द्विवेदी ने UCC का स्वागत करते हुए प्रदेश की जनता और पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री को बधाई दी।

दरअसल, UCC बिल का विधानसभा से पारित होना राज्य की मातृशक्ति की सबसे बड़ी जीत है. UCC के वैधीकरण ने माननीय मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व को गरिमा और सम्मान दिया है। इस ऐतिहासिक विधेयक के पारित होने से पूरे राज्य में उत्साह का माहौल है। उन्होंने UCC को महिलाओं के सम्मान और अधिकारों के लिए महत्वपूर्ण कदम बताते हुए कहा कि इससे पूरे समाज को लाभ होगा और तुष्टिकरण तथा असमानता समाप्त होगी. UCC लागू होने से महिलाओं को आत्मसम्मान और सम्मान से जीने का अधिकार मिलेगा। प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि आजादी के बाद से ही समान नागरिक संहिता की मांग हो रही थी.

इसके बाद भी किसी ने UCC लागू करने की हिम्मत नहीं दिखाई। केंद्र में मोदी सरकार और राज्य में धामी सरकार के सत्ता में आते ही उत्तराखंड UCC लागू करने वाला पहला राज्य बन गया है। UCC के लागू होने से तलाक और सभी धर्मों के लिए एक ही कानून होगा, भरण-पोषण और संपत्ति वितरण में लड़की का समान अधिकार होगा और दूसरे धर्म या जाति में शादी करने से लड़की के अधिकारों का हनन नहीं होगा।

उन्होंने बताया कि UCC में विशेष प्रावधान रखे गये हैं. हर धर्म में विवाह और तलाक के लिए वही कानून होंगे जो हिंदुओं के साथ-साथ अन्य धर्मों के लिए हैं। बिना तलाक के मुसलमान एक से ज्यादा शादी नहीं कर सकेंगे, मुसलमानों को चार शादी करने की इजाजत नहीं होगी. UCC के तहत सभी धर्मों में लड़कियों की शादी की न्यूनतम उम्र 18 साल होगी, पुरुषों और महिलाओं को तलाक का समान अधिकार होगा।

लिव-इन रिलेशनशिप की घोषणा करना जरूरी, लिव-इन रजिस्ट्रेशन न कराने पर 6 महीने की सजा होगी। लिव-इन विवाह में जन्मे बच्चों को संपत्ति में समान अधिकार होता है, महिला के पुनर्विवाह के लिए कोई शर्त नहीं होती है। अनुसूचित जनजातियाँ इस दायरे से बाहर हैं, बहुविवाह निषिद्ध है, पति या पत्नी के जीवित रहते दूसरी शादी नहीं हो सकती। पंजीकरण सुविधा के बिना विवाह का पंजीकरण आवश्यक नहीं है। लड़कियों को विरासत में समान अधिकार मिलेगा.

👉 यह भी पढ़ें: Dehradun News: कमला देवी बनी उत्तराखंड की पहली लोकगायिका, बिखरेंगी सुरों का जादू कोक स्टूडियो भारत सीजन-2 में…

Leave a Comment

LATEST NEWS

Follow Us