Ram Mandir Ayodhya: आज से शुरू करेंगे पीएम मोदी 11 दिन का विशेष अनुष्ठान, जानिए क्या है वो…

A VPN is an essential component of IT security, whether you’re just starting a business or are already up and running. Most business interactions and transactions happen online and VPN
Ram Mandir Ayodhya

न्यूज शेयर करें :

हमें फॉलो करें :

Ram Mandir Ayodhya:

पीएम मोदी ने शुक्रवार को एक संदेश के जरिए कहा कि “प्रभु ने मुझे प्राण प्रतिष्ठा के दौरान सभी भारतवासियों का प्रतिनिधित्व करने का निमित्त बनाया है। इसे ध्यान में रखते हुए मैं आज से 11 दिन का विशेष अनुष्ठान आरंभ कर रहा हूं।”

22 जनवरी को अयोध्या के भव्य राम मंदिर में रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा होने जा रही है. रामलला की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज यानी शुक्रवार से विशेष अनुष्ठान शुरू कर दिया है. इसकी जानकारी खुद पीएम मोदी ने दी है. पीएम मोदी ने शुक्रवार को एक विशेष संदेश के जरिए कहा कि भगवान ने मुझे प्राण प्रतिष्ठा के दौरान सभी भारतीयों का प्रतिनिधित्व करने का माध्यम बनाया है. इसी बात को ध्यान में रखते हुए मैं आज से 11 दिनों का एक विशेष अनुष्ठान शुरू कर रहा हूं. उन्होंने यह भी कहा कि मैं बहुत भावुक हूं और अपनी भावनाओं को शब्दों में बयां करना बहुत मुश्किल है.

👉 यह भी पढ़ें: Haldwani News: यहाँ अज्ञात हमलावरों ने आग सेक रहे युवक की पीठ में मारी गोली, इलाके में हड़कंप…

11 दिन का विशेष अनुष्ठान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारे शास्त्रों में कहा गया है कि भगवान की पूजा और आराधना के लिए हमें अपने अंदर दिव्य चेतना को जागृत करना होगा. इसके लिए व्रत और कठोर नियम बताए गए हैं, जिनका पालन अभिषेक से पहले करना पड़ता है, इसलिए मैं आज से 11 दिनों का विशेष अनुष्ठान शुरू कर रहा हूं. इस आध्यात्मिक यात्रा को प्रारम्भ करने के लिए कुछ तपस्वी आत्माओं एवं महापुरुषों का मार्गदर्शन प्राप्त हुआ है। उन्होंने यह भी कहा कि इस पवित्र अवसर पर मैं ईश्वर के चरणों में प्रार्थना करता हूं और प्रदेशवासियों से प्रार्थना करता हूं कि वे मुझे आशीर्वाद दें ताकि मेरी ओर से कोई कमी न रहे. ऐसे में आइए आपको बताते हैं क्या है खास अनुष्ठान और शास्त्रों में इसका क्या महत्व है…

जानिए अनुष्ठान और इसके महत्व को

शास्त्रों में मूर्ति की प्राण-प्रतिष्ठा को एक विस्तृत एवं व्यापक प्रक्रिया माना गया है। इसके लिए विस्तृत नियम बताए गए हैं, जो प्राण प्रतिष्ठा से कई दिन पहले ही शुरू कर दिए जाते हैं। इस दौरान विशेष अनुष्ठान और व्रत नियमों का पालन किया जाता है।

यह हैं अनुष्ठान के नियम

  • अनुष्ठान के दौरान लकड़ी की चौकी पर सोना होता है।
  • यजमान को लकड़ी की चौकी पर सोने के साथ ही सूती वस्त्र धारण करना होता है।
  • साथ ही इस दौरान ब्रह्मचर्य के नियमों का सख्ती से पालन करना होता है।
  • अनुष्ठान आरंभ करने वाले व्यक्ति को बाहर का खाना, बोतल बंद पानी और बर्फ, हल्दी, राई, उड़द, मूली, बैंगन, लहसुन- प्याज, मांस-अंडा, तेल से बने पदार्थ, भुजिया चावल, चना खाने से परहेज करना होगा।

👉 यह भी पढ़ें: Haldwani News: मेहनत लाई रंग, शहर ने स्वच्छता रैंकिंग में 71 अंको की मारी जम्प

Leave a Comment

LATEST NEWS

Follow Us